72 Views

लखनऊ, 30 जनवरी 2020, (आरएनआई )। फर्रुखाबाद में एक शातिर बदमाश ने 20 बच्चों और कुछ महिलाओं को घर में बंधक बना लिया। घटना जिले के मोहम्दाबाद इलाके की है। उसने बेटी के जन्मदिन के नाम पर गांव के बच्चों को बुलाया था। बच्चों को छुड़ाने पहुंची पुलिस पर भी उसने फायरिंग की, जिसमें 2 पुलिसकर्मी घायल हो गए। वहीं, पुलिस ने बदमाश के जिस करीबी दोस्त को समझाने भेजा था, उसे भी गोली लगी है। आरोपी ने पिछले 7 घंटों में 6 बार फायरिंग की और घर के बाहर हथगोला भी फेंका।

उत्तर प्रदेश के आईजी लॉ एंड ऑर्डर पीवी रामशास्त्री ने कहा- बचाव अभियान जारी है। क्विक रिस्पॉन्स टीम (क्यूआरटी) और स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) की टीमें वहां मौजूद हैं। एंटी टैररिज्म स्क्वाड (एटीएस) भी पहुंच रही है। यह कहा जा रहा है कि लगभग 20 बच्चे अंदर बंधक हैं। वहीं, डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि कमरे के अंदर से इस व्यक्ति ने पुलिस पर फायरिंग की। फायरिंग में दो पुलिसकर्मी घायल हो गए। बचाव के लिए एटीएस की टीम को भेजा गया है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले पर उच्च स्तरीय बैठक बुलाई। मुख्य सचिव, डीजीपी, एडीजी लॉ एंड ऑर्डर, और गृह विभाग के प्रमुख सचिव को योगी ने बच्चों को सुरक्षित छुड़ाने के लिए तुरंत एक्शन लेने को कहा। इसके बाद योगी ने फर्रुखाबाद के डीएम और एसपी से चर्चा की। योगी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर फर्रुखाबाद पुलिस को फटकार लगाई। उन्होंने कहा- पिछले 7 घंटे से फर्रुखाबाद पुलिस क्या कर रही थी। समय रहते अपराधी पर काबू क्यों नहीं किया गया। हर हाल में बच्चों और महिलाओं को मुक्त कराया जाए।

बदमाश का नाम सुभाष बाथम है और वह हाल ही में जेल से छूटकर आया था। गुरुवार को उसकी बेटी गौरी (5) का जन्मदिन था। सुभाष ने मोहल्ले के बच्चों को अपने घर बुलाया था, जिन्हें उसने अपने घर में ही बंधक बना लिया। उसने पहले छत पर चढ़कर फायरिंग की और उसके बाद घर के अंदर से पुलिस पर गोलीबारी करता रहा।

बदमाश ने जन्मदिन मनाने के बाद बच्चों को घर के भूमिगत कमरे में बंद कर दिया। इसके बाद शराब के नशे में छत पर चढ़कर चीखने लगा कि अब पुलिस उसे पकड़ने आई. तो नतीजा भुगतना पड़ेगा। इसके बाद मोहल्ले के लोग जमा हो गए। जब पुलिस मौके पर पहुंची, तो बदमाश ने उस पर भी हमला कर दिया। आरोपी ने पुलिस पर गोलियां चलाईं और हैंड ग्रेनेड से हमला किया। इस घटना में दो पुलिसकर्मी घायल हो गए। बदमाश ने 35 किलो बारूद से पूरे घर को उड़ाने की धमकी भी दी। पुलिस पर हमला होने के बाद कई थानों की फोर्स मौके पर भेजी गई है।

आरोपी सुभाष बाथम ने 2001 में गांव के ही मेघनाथ नाम के व्यक्ति की हत्या की थी। इस मामले में उसे उम्रकैद की सजा हुई और फिलहाल वह जमानत पर बाहर आया है। स्थानीय लोगों ने बताया कि करीब चार महीने पहले स्वाट टीम उसे चोरी के मामले में पकड़कर ले गई थी, तभी से वह मोहल्ले के लोगों से दुश्मनी रखता है। उसका कहना है कि मोहल्ले के लोगों ने ही उसे पकड़वाया था।
Photos:-