142 Views

अयोध्या, 18 सितंबर 2019, (आरएनआई)। जनसंख्या नियंत्रण हेतु केंद्र सरकार देश में तत्काल समान नागरी कानून लागू करें।एेसी मांग हेतु यहां के तिकोनिया पार्क में विविध हिन्दूत्ववादी संगठनो द्वारा राष्ट्रीय हिन्दू आंदोलन किया गया । संसार में चीन के पश्चात सर्वाधिक जनसंख्या भारत की (१३६ करोड) है ।जनसंख्या नियंत्रण’ भारत की सबसे बडी समस्या बन गई है । बढती जनसंख्या के कारण देश के प्रकृतिक साधन सुविधाएं, आर्थिक स्थिति, रोजगार, अन्न-धान्य, शिक्षा, शासकीय सुविधाएं, सुरक्षा व्यवस्था इत्यादि पर बहुत तनाव आता है । उसमें मुसलमानों को विवाह आैर बच्चों को जन्म देने का बंधन न होने से उनकी जनसंख्या बेहिसाब बढ रही है ।

अल्पसंख्याकों के नाम पर मुसलमान आैर अन्य पंथियों को विशेष छूट देकर देश में असमान कानून प्रणाली तथा योजनाएं चलाई जा रही हैं । एेसे में बहुसंख्यांक हिन्दुआें में देश में हमसे भेदभाव आैर अन्याय होने की भावना पिछले ७० वर्षाें से बढ रही है । जिस प्रकार मोदी सरकार ने संविधान की धारा ३७० हटाकर ‘एक देश-एक संविधान’ यह तत्त्व अमल में लाया है । वैसे ही ममता, न्याय, बंधूता आैर सुव्यवस्था प्रस्थापित करने के लिए ही ‘एक देश-एक विधान’ लागू करना अत्यावश्यक है ।

आंध्रप्रदेश सहित देशभर के सरकारीकरण किए हुए मंदिर भक्तों को सौंपे जाएं !

आंध्रप्रदेश के ईसाई मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी की सरकार हिन्दूविरोधी कानून बना रही है आैर खुलेआम ईसाई धर्म का प्रचार आरंभ किया है । मंदिरों का धन अन्य पंथियों को दिया जा रहा है, मंदिरों की भूमि अवैध रूप से बेची जा रही है तथा मंदिरों के परिसर में अन्य पंथियों को व्यवसाय करने की अनुमति दी जा रही है ।

हिन्दुआें के मंदिरों की भूमि नियंत्रण में लेकर उसपर गृहनिर्माण प्रकल्प बनाने का निर्णय तत्काल रद्द करो, आंध्रप्रदेश सहित देशभर के सरकारीकरण किए हुए मंदिरों में अन्य धर्मियों को दी गई नौकरियां छोडने के आदेश दिए जाएं तथा उसके लिए अलग कानून बनाया जाए, तथा हैदराबाद उच्च न्यायालय का आदेश होते हुए भी नियम ताक पर रखकर मंदिरों की भूमि नियंत्रण में लेने का निर्णय लिया जा रहा है । इसलिए देशभर के सरकारीकरण किए हुए सभी मंदिर भक्तों को सौंपे जाएं, एेसी मांग आंदोलन में ‘राष्ट्रीय मंदिर-संस्कृति रक्षा’ अभियान के अंतर्गत की गई ।

इस मौके पर सद्गुरु सेवा संस्थान समिति के वैद्य रामप्रकाश पांडेय, रामकृष्ण मां शारदा स्वामी विवेकानंद सेवा न्यास के अध्यक्ष अधिवक्ता कमलेश सिंह, हिन्दू महासभा के श्री. विधिपुजन पांडेय, कबीरधारा फांउडेशन के श्री. शीलदास, अधिवक्ता सच्चिदानंद तिवारी, वरिष्ठ पत्रकार श्री. अजय श्रीवास्तव, हिन्दू जनजागृति समिति के श्री. विश्वनाथ कुलकर्णी आदि बहुत से हिंदु साथी उपस्थित थे ।