फ़िरोज़ाबाद 17 अप्रैल

फ़िरोज़ाबाद सीट का चुनाव दिन ब दिन दिलचस्प होता जा रहा है। चाचा भतीजे की टक्कर हर रोज़ एक नया मोड़ ले रही है। गठबंधन के प्रत्याशी अक्षय यादव ने कल सभा को संबोधित करते हुए अपना चुनाव चिन्ह चाबी बता दिया तो वहीँ शिवपाल यादव ने कहा कि जिस तरह समाजवादी पार्टी को हम नेता जी के साथ मिल इस शिखर तक पहुँचाया था लेकिन चूँकि अब सपा की विचारधार समाजवादी नहीं रही इस लिए समाजवादियों और संघर्षवादियों के लिए नेता जी के आशीर्वाद से एक नयी पार्टी का गठन हुआ जिस का नाम प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया है जिस में हर वर्ग को उचित स्थान और सम्मान दिया गया है। प्रसपा के मुखिया ने कहा कि यह पार्टी नेता जी आदरणीय मुलायम सिंह यादव के साथ मिल कर बनायी गई है इस लिए नेता का हर चहेता इस पार्टी का हिस्सा है और हम उस सम्मान करते हैं। कल भी नेता जी के साथ मिल कर हम ने समाजवादियों , पिछड़ों, अल्पसंख्यकों और वंचितों के लिए लड़ाईयां लड़ी हैं और आज भी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के बैनर टेल उपेक्षितों के लिए संघर्ष किया जायेगा। इस संघर्ष में शिवपाल की चाभी को ना सिर्फ नेता जी का आशीर्वाद मिला बल्कि उन के दूसरे भाई अभयराम का भी समर्थन मिला और वो शिवपाल की चाबी के लिए वोट मांग रहे हैं। फ़िरोज़ाबाद की जनता चाचा की शिवपाल की चाबी को सम्मान और विश्वाश की चाबी के रूप में देख रही है। 23 मई को देखना होगा विश्वाश की यह चाबी शिवपाल के संसद के ताला खोल पाती है या नहीं।