कुमारस्वामी सरकार कभी भी गिर सकती है कर्नाटक मे विधायकों के जोड़-तोड़ का सिलसिला अब भी जारी है। बिगड़ते हुए हालात के बीच सीएम कुमारस्वामी अमेरिका से लौट तो आए हैं, लेकिन इसकी उम्मीद बहुत कम है। 13 विधायकों के इस्तीफे ने कांग्रेस और जेडीएस की जड़ें हिला दी है। जेडीएस नेता देवगौड़ा ने कहा, “अगर कांग्रेस-जेडीएस समन्वय समिति सिद्धारमैया को मुख्यमंत्री बनाने का फैसला करती है तो मुझे कोई आपत्ति नही होगी।“

सीनियर नेताओं की बैठकें चल रही हैं। कांग्रेस को अब भी भरोसा है कि इस्तीफ़ा देने वाले विधायक वापस आ जाएंगे। कांग्रेस को विधायकों की घर वापसी का इंतजार है लेकिन बागी विधायकों का कहना है कि इस्तीफा वापस लेने का सवाल ही नहीं उठता। इस उठापटक के बीच कांग्रेस ने सर्कुलर जारी कर सभी विधायकों को 9 जुलाई को हाजिर होने का निर्देश दिया है। डर तो इस बात का भी है कि कहीं कोई और विधायक इस्तीफ़ा ना दे दे।

इस्तीफ़ा देने वाले दोनों दल के विधायक इस समय मुंबई के एक होटल में डेरा जमाए बैठे हैं। आज शाम 5 बजे बीजेपी ने भी विधायकों की बैठक बुलाई है। राज्यपाल के फैसले का इंतेजार हो रहा है। सूत्रों की माने तो राज्यपाल 17 जुलाई को बहुमत परिक्षण के लिए कह सकते हैं। 12 जुलाई से कर्नाटक विधानसभा का कत्र शुरू हो रहा है