35 Views

मधुबनी, (आरएनआई )। हरलाखी प्रखंड क्षेत्र के भारत नेपाल सीमा के चेकपोस्ट पर खतरनाक कारोना वायरस से बचाव एवं लोगों को जागरूक करने के लिए पिपरौन चेक पोस्ट पर स्वास्थ्य विभाग की टीम को नियुक्त कर दिया गया है.

जहां डबल्यू एच ओ के टीमों के द्वारा नेपाल से आने वाले व्यक्तियों से पुछताछ कर वायरस के लक्षणों को परखा जा रहा है।क्योंकि इस खतरनाक वायरस का प्रकोप चीन के रास्ते नेपाल देश में हो चुका है नेपाल देश से भारत का सीमा सटे होने के कारण फैलने की संभावना है जिससे भारत के नागरिक भी वायरस के शिकार न हो जाये।इसलिए भारत नेपाल चेक पोस्ट पर ग्रसित युवक की पहचान किया जा रहा है।

कोरोना वायरस से होने वाली बिमारी का अभी तक कोइ इलाज नहीं है। ऐसे मरीजों में बीमारी से होने वाले सिर्फ लक्षणों का ही उपचार किया जा सकता है।वैसे स्वास्थ्य मंत्रालय भारत सरकार,विश्व स्वास्थ्य संगठन एवं अंतर्राष्ट्रीय विशेषज्ञों के सहयोग से इस वायरस के बारे में पता लगाने करने का काम कर रही है।

(रिपोर्टर-आलोक कुमार)