लखनऊ, 17 अप्रैल  प्रमोद कृष्णम बनाम राजनाथ सिंह बनाम पूनम सिन्हा, लखनऊ लोकसभा सीट पर मुकाबला त्रिकोणीय हो गया है.

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से कांग्रेस ने आचार्य प्रमोद कृष्णम को टिकट दिया है. बीजेपी की ओर से राजनाथ सिंह इस सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. कांग्रेस ने ठीक उसी दिन आचार्य प्रमोद कृष्णम के नाम का ऐलान किया है जिस दिन शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा समाजवादी पार्टी में शामिल हुईं. गठबंधन की ओर से वह लखनऊ से चुनाव लड़ेंगी. लखनऊ में 6 मई को वोटिंग है. नामांकन दाखिल करने की अंतिम तारीख 18 अप्रैल है. गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने 16 अप्रैल मंगलवार को ही इस सीट से अपना नामांकन दाखिल किया.

समाजवादी पार्टी के नेता रविदास मेहरोत्रा ने कहा – “लखनऊ से गठबंधन की प्रत्याशी शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा होंगी. हमारी कांग्रेस से अपील है कि वह अपना उम्मीदवार लखनऊ से ना उतारे ताकि भारतीय जनता पार्टी को हराया जा सके. वह 18 अप्रैल को नामांकन दाखिल करेंगी

अक्सर अपने बयानों को लेकर चर्चा मे रहने वाले आचार्य प्रमोद कृष्णम को कांग्रेस ने लखनऊ लोकसभा सीट पर अपना उम्मीदवार घोषित किया है। कांग्रेस के कद्दावर नेता दिग्विजय सिंह समेत तमाम नेताओं के गुरु प्रमोद कृष्णम इससे पहले संभल सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ चुके हैं। लेकिन, उन्हें बुरी तरह से हार मिली थी और उन्हें पांचवें स्थान पर संतोष करना पड़ा था।

.”2014 के लोकसभा चुनाव में लखनऊ संसदीय सीट पर 53.02 फीसदी मतदान हुए थे. राजनाथ सिंह ने कांग्रेस की रीता बहुगुणा जोशी को 2 लाख 72 हजार वोटों से हराया था. राजनाथ सिंह को 5,61,106 वोट मिले थे. 1991, 1996, 1998, 1999 और 2004 में पूर्व प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी ने लखनऊ से जीत हासिल की थी. 2009 में लाल जी टंडन ने इस सीट से चुनाव जीता था. लखनऊ बीजेपी का मजबूत गढ़ है. लखनऊ लोकसभा सीट के तहत 5 विधानसभा सीटें आती हैं. पांचों सीटों पर बीजेपी का कब्जा है