115 Views

पीलीभीत, 13 फरवरी 2020, (आरएनआई )। यूपी के पीलीभीत जिले भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने किसानों का गन्ना बकाया भुगतान व ग्राम पंचायत के ग्राम प्रधान के भ्र्ष्टाचार की शिकायत करना एक किसान को महंगा पड़ गया। किसान की मूंछ पर उस्तरा चलवाया दिया गया व उसके साथ अभद्र व्यवहार और मारपीट की गई। जिसको लेकर भारतीय किसान यूनियन ने तहसील परिसर में धरना प्रदर्शन किया।

मामला पूरनपुर तहसील का है जहां ग्राम पंचायत चंदोखा के ग्राम प्रधान के भ्रष्टाचार की शिकायत गांव के ही 65 बेनीराम ने उपजिलाधिकारी चंद्रभानु सिंह से की थी। जिसपर उपजिलाधिकारी चंद्रभानु सिंह पर किसान बेनीराम ने आरोप लगाया कि उसकी पिछले 35 साल से रखी हुई मूंछो पर उपजिलाधिकारी ने न ही उस्तरा चलवाया बल्कि उसके साथ अभद्र व्यवहार किया और कोतवाली लाकर उसके साथ मारपीट की। वही भारतीय किसान यूनियन ने अपनी बिभिन्न मांगों को लेकर तहसील परिसर में धरना प्रदर्शन किया। जिसमे किसानों का गन्ने का बकाया अविलंब कराया जाए, ग्राम पंचायत चंदोखा के किसान बेनीराम पुत्र शंकर लाल की मूंछ कटवाकर व प्रशासनिक अधिकारी द्वारा किसान से मारपीट करना मानवाधिकार का हनन है।

इसमें दोषी अधिकारी के विरुद्ध दंडात्मक कानूनी कार्यवाही अविलंब कराई जाए। जंगली जानवरों द्वारा किसानों पर आत्मघाती हमला एवं किसानों की फसलों को जंगली जानवरो द्वारा अविलंब निजात व जंगल की तार फेंसिंग अविलंब कराई जाए। वही ग्राम पंचायत पिपरिया मझरा व ग्राम बालावाली में गेहूं क्रय केंद्र का सरकारी सेंटर अविलंब कराया जाए। वही भारतीय किसान यूनियन ने इसके अलावा और कई मांगो को रखा है जिसको जल्द ही अमल में लाने की मांग की है।

वही उपजिलाधिकारी चंद्रभानु सिंह ने एक प्रेस रिलीज जारी कर बताया है कि तहसील स्तर पर किसान यूनियन द्वारा ग्राम चंदोखा के चकमार्ग को लेकर धरना प्रदर्शन किया जा रहा है। इस प्रकरण में मैं स्वयं ग्राम चंदोखा जांच हेतु गया था। जहां पर मैंने ग्राम बासियो को आश्वस्त किया था कि नाप कराकर इस प्रकरण का नियमानुसार निराकरण जल्द करा दिया जाएगा। मौके पर बेनीराम पुत्र शंकर लाल निवासी चंदोखा द्वारा इस कार्य मे व्यवधान उत्पन्न किया गया था। तो उनको पकड़ कर बैठा लिया गया था। तहसील में धरना स्थल पर उक्त बेनीराम की मेरे द्वारा मूंछे उखाड़ने की जो बात की जा रही है। वह असत्य एवं तथ्यों से परे है। इस तरह की कोई घटना घटित नही हुई है।