44 Views

कानपुर, 31 जनवरी 2020, (आरएनआई )। पांच दिवसीय गंगा यात्रा का आज समापन हो गया. बिजनौर और बलिया से शुरू हुई गंगा यात्रा आज कानपुर में खत्म हुई. समापन के मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अटल घाट पर गंगा यात्रा का स्वागत किया. इस दौरान उन्होंने घाट पर पूजन के साथ गंगा आरती भी की.

गंगा यात्रा के समापन समारोह में जनसभा को संबोधित करते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गंगा यात्रा मां, माटी और मनुष्यता के महात्म्य को अभिनंदित करने का पुण्य प्रयास है. आज गंगा यात्रा का समापन नहीं बल्कि गंगा युग का प्रारंभ हुआ है. गंगा आराधना के लिए आस्था और अर्थव्यवस्था के समवेत स्वरों में रचित नव गीत के निर्माण की भावभूमि है गंगा यात्रा .

सीएम योगी ने कहा कि आजीविका और आराधना के संगम से आकांक्षाओं की पूर्ति मोक्ष का मार्ग प्रशस्त करती है. पुरुषार्थ चतुष्टय का आदि आधार मां गंगा की प्रदक्षिणा, गंगा यात्रा उसी मोक्ष मार्ग के अन्वेषण का एक पड़ाव है. किंतु आप सभी श्रद्धालुओं का प्रयास एक दिन गंतव्य तक अवश्य पहुंचेगा.

इस दौरान सीएम योगी ने पीएम मोदी की भी तारीफ की. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने नदी संस्कृति को बचाने के लिए नमामि गंगे का संदेश दिया. उनकी अपेक्षा थी कि गंगा जी के साथ हमारा समन्वय पुरुषार्थ चतुष्टय धर्म, अर्थ, काम मोक्ष के साथ जोड़ते हुए किसानों, नौजवानों और गंगा भक्तों को जोड़कर जनप्रतिनिधियों द्वारा अभियान चलाया जाए.

सीएम योगी ने यहां कहा कि जब हम विघ्न बाधाओं का सामना कर आगे बढ़ते हैं तभी हमें सफलता प्राप्त होती है. गंगा यात्रा के पहले दिन मौसम खराब था लेकिन यात्रा आरंभ होते ही मौसम ठीक होता गया. यह मां गंगा की कृपा है कि मौसम सुहावना हो गया है और आज हम मां गंगा के प्रति अपना धन्यवाद ज्ञापित कर रहे हैं.