कांग्रेस ने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि अब ईवीएम बीजेपी के लिए ‘इलेक्ट्रॉनिक विक्ट्री मशीन’ बन गई है।

कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, ”मीडिया के जरिये पता चला है कि चुनाव आयोग ने हमारी दो मांगे निरस्त कर दी।पहली मांग की थी कि पर्चियों का मिलान मतगणना से पहले होना चाहिए. इस मांग को खारिज करने का क्या औचित्य हो सकता है? इसका क्या आधार है?

आगे उन्होंने कहा- हमने यह भी कहा था कि पर्चियों के मिलान में कमी पाई जाती है तो पूरे विधानसभा क्षेत्र में 100 फीसदी पर्चियों का मिलान किया जाए। इस मांग को भी नहीं माना गया। इसमें भी आयोग को क्या दिक्कत हो सकती है?