सर्जिकल स्ट्राइक पर कांग्रेस के दावों को झूठा बताने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान पर पलटवार करते हुए विपक्षी पार्टी ने शुक्रवार को कहा कि यह बयान जवानों की बहादुरी का अपमान है और पार्टी ने कभी सर्जिकल स्ट्राइक को चुनावी मुद्दा नहीं बनाया।

समाचार एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के अनुसार कांग्रेस ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह ‘शर्मनाक बयान’ जवानों के अदम्य साहस और बहादुरी का सीधा अपमान है कि कांग्रेस के समय सर्जिकल स्ट्राइक केवल कागजों पर हुई और कांग्रेस नेता उन्हें वीडियो गेम की तरह सोचते थे।

पार्टी ने एक बयान में दावा किया, ‘‘दुख की बात है कि मोदीजी ने 23 दिसंबर, 2013 की सर्जिकल स्ट्राइक पर तत्कालीन सेना प्रमुख जनरल बिक्रम सिंह के बयान को भी झुठला दिया है। यह एक प्रधानमंत्री के राजनीतिक दिवालियेपन को दर्शाता है, जबकि 2019 के चुनाव में हार निकट दिख रही है।’’