193 Views

शाहीन बाग़ में नागरिकता संशोधन क़ानून और एनआरसी को लेकर धरने पर बैठी महिलाओं को लेकर बीजेपी आईटी सेल ने अक भ्रम और झूठ फैलाया था की वहां पर धरने में जाने के लिए महिलाओं को 500 रूपये दिए जाते हैं, और शिफ्ट के हिसाब से काम होता है.इस पर कन्हैया कुमार ने ट्वीट करते हुए बीजेपी पर निशाना साधा है उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा-

तुलसीदास कहते हैं कि “जाकी रही भावना जैसी, प्रभु मूरत तिन देखी तैसी” जिन्होंने खुदको बेच दिया है,उन्हें ही दुनिया बिकाऊ नजर आती है। सरकार को अपना ईमान बेचने वाले लोग डर गए हैं देश की महिलाओं के ज़ज्बे और हौसले से, इस कड़कड़ाती ठंड में संविधान बचाने के लिए उनके शानदार आन्दोलन से।