इस्लामिक बैंक के नाम पर करीब 30 हजार मुस्लिमों अपने जाल में फसाकर चूना लगाने वाला मोहम्मद मंसूर खान करीब 1500 करोड़ की धोखाधड़ी कर दुबई भाग गया है। बताया जाता है कि लोगों को बड़े रिटर्न का वादा कर उसने एक पोंजी स्कीम चलाई जिसके चाल में सभी फसते चले गये।

आपको बता दें कि मंसूर खान ने 2006 में आई मॉनेटरी अडवाइजरी के नाम से एक बिजनस की शुरुआत की थी और इनवेस्टर्स को बताया कि यह संस्था बुलियन में निवेश करेगी और निवेशकों को 7-8 प्रतिशत रिटर्न देगी।

आरोपी मंसूर ने अपनी स्कीम को आम मुसलमानों तक पहुंचाने के लिए उसने स्थानीय मौलवियों और मुस्लिम नेताओं को साथ लिया। वह नियमित तौर पर मदरसों और मस्जिदों में दान दिया करता था।