उत्तर प्रदेश के बरेली के सरकारी अस्पताल में एक परिजन को दो विंगों में तीन घंटे तक दौड़ाते रहे डॉक्टर जिसकी वजह से सही समय पर इलाज न मिलने से 4 दिन की बच्ची ने सीढ़ियों पर ही अपना दम तोड़ दिया।

उत्तर प्रदेश सरकार ने अस्पताल के एक विंग के पीठासीन डॉक्टर को निलंबित कर दिया है, जबकि दूसरे विंग के प्रभारी अधिकारी के खिलाफ विभागीय कार्रवाई शुरू कर दी है।

उर्वशी नाम की इस बच्ची का जन्म 15 जून को हुआ था। आज सुबह उसे सांस लेने में दिक्कत होने लगी, जिसके बाद उसे बरेली शहर के सरकारी अस्पताल में लाया गया।

बच्ची की दादी कुसमा देवी ने बताया कि हम लोग तीन घंटे तक इधर-उधर घूमते रहे। क्योंकि उन्होंने एडमिट करने से मना कर दिया। आखिरकार हम लोगों ने उसे घर वापस ले जाने का फैसला किया। लेकिन उसने अस्पताल की सीढ़ियों पर ही दम तोड़ दिया।