कोलकाता। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह नवंबर महीने की शुरुआत में पांच और छह को दो दिवसीय बंगाल दौरे पर आए थे. इस दौरान उन्होंने बंगाल से ममता बनर्जी की सरकार को उखाड़ फेंकने और बंगाल में दो तिहाई बहुमत से बीजेपी की सरकार बनाने का दावा किया था. एक बार फिर अमित शाह नवंबर महीने के अंत में बंगाल आ सकते हैं. बीजेपी के वरिष्ठ नेता के अनुसार अमित शाह 30 नवंबर को फिर से बंगाल आ सकते हैं. इसके साथ ही विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बंगाल में केंद्रीय मंत्रियों और बीजेपी के आला नेताओं का जमावड़ा लगने की भी संभावना है.

आज चुनाव तैयारियों को लेकर बीजेपी के हेस्टिंग्स कार्यालय में बैठक हुई.बैठक में बीजेपी के महासचिव (संगठन) बीएल संतोष खुद उपस्थित थे. उनके साथ पार्टी महासचिव व केंद्रीय प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय , राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय, संयुक्त महासचिव (संगठन) शिवप्रकाश , बंगाल के सह प्रभारी अरविंद मेनन व अमित मालवीय भी उपस्थित थे. केंद्रीय नेतृत्व के अतिरिक्त प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष, पूर्व राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा व केंद्रीय राज्य मंत्री देवश्री चौधरी भी उपस्थित थे.बैठक के बाद कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि पार्टी ने चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी हैं. चुनावी गतिविधियां शुरू हो गई हैं तो बैठक भी होगी और नेताओं का दौरा भी.

संगठन को लेकर बातचीत भी होगी. केंद्रीय मंत्री भी रहेंगे. राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और पीएम नरेंद्र मोदी  भी आएंगे.सूत्रों का कहना है कि अमित शाह इस माह के अंत में 30 नवंबर को फिर बंगाल दौरे पर आ सकते हैं. दूसरी ओर, नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल के प्रमुख चेहरे स्मृति इरानी, पीयूष गोयल सहित अन्य मंत्रियों के बंगाल दौरे पर आने की संभावना है. भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान जिस तरह से केंद्रीय नेता और मंत्री बंगाल दौरे पर आए थे, विधानसभा चुनाव के दौरान भी आएंगे और केंद्रीय नेताओं को अलग-अलग जोन की जिम्मेदारी भी दी जाएगी और यह हर चुनाव में होता है.