260 Views

पीलीभीत, 13 सितंबर 2019, (आरएनआई)। यूपी के पीलीभीत जिले में अंधविश्वास के चलते एक किसान की जान चली गई, किसान को हाईटेंशन लाइन से करंट लग गया, जिसके बाद परिजनों ने डॉक्टर को न दिखाकर उसे जमीन में गड्ढा खोदकर रेत के अंदर जमीन में गाड़ दिया और 5 घंटे तक देशी इलाज करते रहे।

दरअसल मामला थाना गजरौला क्षेत्र के गाँव पिंडरा के रहने बाले (58) बर्षीय जोगा सिंह का है जहाँ उनके घर के ऊपर से हाईटेंशन लाइन गुजर रही है।जोगा सिंह अपने घर के आंगन में खड़े थे इस बीच हाइटेंशन लाइन का तार टूटकर उनके ऊपर गिर गया, जिससे वो बुरी तरह झुलस गए, लेकिन परिजन जोगा सिंह को अस्पताल नही ले गए, बल्कि घर के बाहर ही उन्हें गड्ढा खोदकर रेत के नीचे दवा दिया और इजाज करते रहे, 5 घंटे के लंबे अंतराल के बाद उनकी मौत हो गई। तस्वीरों में आप साफ देख सकते है कि जोगा सिंह को जमीन के अंदर गाढ़ दिया गया है और चारो तरफ काफी भीड़ लगी है पर लोग तमाशबीन बने सिर्फ देख रहे है।

बताया ये भी जा रहा है कि घटना के बाद पुलिस और बिजली विभाग को सूचना दी गई लेकिन 5 घण्टे गुजर जाने के बाद भी घटना स्थल पर कोई नही पहुंचा और परिजन अंधविश्वास के चलते घर मे ही देशी इलाज का हवाला देते हुए जमीन के अंदर गाढ़े रहे और नतीजा ये रहा कि उनकी मौत हो गई।

सूचना के बाद अगर समय रहते पुलिस या बिजली विभाग के आलाधिकारी मौके पर पहुंच जाते तो जोगा सिंह की जान बच सकती थी पर पुलिस ने फिलहाल बिजली विभाग के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है और मामले की जांच कर रही है।

बही बिजली विभाग पर आरोप है कि उनका मकान 40 साल पुराना है। गांव बालो के इनकार करने के बाबजूद भी हाईटेंशन लाइन को मकान के ऊपर से निकाल दिया गया है। जिसकी बिजली विभाग के आलाधिकारियों से कई बार शिकायत भी की गई लेकिन बिजली विभाग के किसी भी अधिकारी ने कोई एक्सन नही लिया।