104 Views

मथुरा, 14 जून (आरएनआई) | मथुरा जनपद में कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी है। योगीराज में जमकर अपराधियों और दबंग लोगों द्वारा कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। वहीं पत्रकारों और उनके परिजनों पर बेखौफ हमले किए जा रहे हैं। शुक्रवार को भी जनपद के प्रॉपर्टी डीलर और भाजपा कार्यकर्ता को कस्बा गोवर्धन के गांव आन्यौर में दिनदहाड़े गोली मार दी। इसके बाद आरोपी फरार हो गए। गंभीर घायल प्रॉपर्टी डीलर को उपचार के लिए नयति लाया गया। यहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। थाना गोवर्धन में नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। एसओजी सहित अन्य पुलिस टीमें आरोपियों की तलाश में जुट गई हैं।

थाना गोविंदनगर अंतर्गत अर्जुनपुरा डीग गेट निवासी झम्मन चौधरी उम्र करीब 47 वर्ष पुत्र ओमप्रकाश चौधरी मूल रुप से गोवर्धन के गांव आन्यौर के रहने वाले हैं। शुक्रवार को झम्मन चौधरी गांव आन्यौर में अपनी जमीन की बाउंड्रीवॉल करा रहे थे। आरोप है कि इसी दौरान दोपहर करीब 12 बजे वहां गांव का ही ठाकुर दुर्गपाल सिंह अपने कुछ साथियों के साथ वहां आया और तमंचे से झम्मन चौधरी को गोली मार दी। गोली छाती के नीचे बाएं हाथ के नीचे की तरफ लगी। गोली मारने के बाद सभी वहां से फरार हो गए। गोली लगते ही झम्मन चौधरी नीचे गिर पड़े और गंभीर रुप से घायल हो गए। गोली की आवाज सुनकर गांव में अफरा तफरी मच गई और पुलिस को जानकारी दी गई। घायल को उपचार के लिए नयति अस्पताल ले जाया गया। यहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया। झम्मन चौधरी के छोटे भाई रवि चौधरी इंडिया न्यूज चैनल के मथुरा के संवाददाता हैं। जानकारी मिलते ही एसएसपी शलभ माथुर, एसपी सिटी और सीओ सदर सहित काफी संख्या में पत्रकार नयति पहुंच गए। इसके बाद पत्रकार पोस्टमार्टम गृह भी पहुंचे। यहां शोकाकुल परिवार को सांत्वना दी। मृतक के बेटे मंजीत सिंह ने थाना गोवर्धन में पांच लोगों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई है। इसमें ठाकुर दुर्गपाल सिंह, प्रेम सिंह, टीटी, रन्नो सहित अन्य शामिल हैं। मृतक भाजपा का सक्रिय कार्यकर्ता भी था। उसने लोकसभा चुनाव में सांसद हेमामालिनी के लिए सघन चुनाव प्रचार किया था। घटना से पत्रकारों में काफी रोष है।

मथुरा में विगत कई दिनों से पत्रकारों और उनके परिजनों के साथ हो रही घटनाओं को लेकर भी पत्रकारों में काफी गुस्सा नजर आ रहा था। सभी पोस्टमार्टम हाउस पर इसी बारे में बातें कर रहे थे। मृतक के पुत्र मंजीत सिंह और छोटे भाई पत्रकार रवि चौधरी ने बताया कि मृतक जमीनों का कारोबार करते थे। आरोपी दुर्गपाल सिंह न तो उनके साथ जमीनी कारोबार करता था। न ही उसकी मृतक के साथ कोई रंजिश थी। इसके बाद भी उसने उनकी हत्या कर दी। हत्या का कारण तो अब आरोपी ही बता सकता है। एसएसपी शलभ माथुर ने बताया कि आरोपी और मृतक दोनों ही जमीनों का कारोबार करते थे। किसी बात पर दोनों में विवाद हो गया था। इस संबंध में मृतक अथवा उसके परिजनों ने पूर्व में पुलिस को कोई जानकारी नहीं दी थी। पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में ले लिया है। घटना के कारणों की जानकारी की जा रही है। जांच और आरोपियों को पकड़ने के लिए टीमों का गठन कर दिया गया है। शीघ्र ही सभी आरोपी गिरफ्तार कर लिए जाएंगे।