कोलकाता। एपीजे अब्दुल कलाम मेमोरियल फाउंडेशन व मेमोरी ऑफ मार्टीडॉम ऑफ मेहता एंड मुख्तार द्वारा अपने तीन सूत्री मांग के तहत आज कोलकाता मेडिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीएमआरआई) के अधीक्षक को एक ज्ञापन सौंपा। उक्त ज्ञापन में अस्पताल से मांग की गई कि इमरजेंसी और आउटडोर सेवा में रोगियों से पांच सौ रुपये फीस लिया जाता है जो गरीब वर्ग के लोगों के लिए यह फीस दे पाना संभव नहीं है।

इसके अलावा यह भी मांग की गई है कि आपातकालीन सेवा गरीबों को मुफ्त दी जाए या फिर आउटडोर का का शुल्क पांच सौ रुपये को कम कर केवल सौ रपये किया जाए । साय़ ती यह ङी मांग की गई की डायमंड हार्बर रोड से अस्पताल में जाने वाला रास्ता खोल दिया जाए जो कि पिछले एक वर्ष से बंद कर दिया गया है । यह भी मांग की गई की मरीजों के साथ अस्पताल में उनके परिजनों को जरुरत के मुताबिक प्रवेश मिले।

एक संवाददाता सम्मेलन में मीडिया कर्मियों से बातचीत के दौरान संतन कुमार पाण्डेय, पूर्व पारषद इलियास इस्लाही ने उक्त बात कही। संस्ताओं की ओर से तबरेज इस्लाही और उत्तम कुमार दास ने बताया कि उक्त ज्ञापन अस्पताल के अधीक्षक सुप्रतिक सरकार के हाथों सौंपा गया। संस्था की ओर से चेतावनी दी गई है कि अगर मांग को नहीं माना गया तो बाकायदा वृहद आंदोलन चलाया जाएगा।