हरदोई, | कलेक्टेªट सभा कक्ष में जिलाधिकारी पुलकित खरे की अध्यक्षता में अंग्रेजी माध्यम से चलने वाले सीबीएसई बोर्ड के स्कूलो की शुल्क निर्धारण की बैठक सम्बन्धित स्कूलो के प्रबन्धक एवं प्राचार्यो तथा अभिभावक संघ के सदस्यों के साथ सम्पन्न हुई।  बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि फीस व्यवस्था में शासनादेश के अनुसार बेस लाईन वर्ष 2015-16, 2016-17 या 2017-18 के अनुसार ही समस्त अंगे्रजी माध्यम में चलने वाले स्कूल फीस व्यवस्था पर 5 प्रतिशत तथा सूचकांक के आधार पर ही बढ़ा सकते हैै। उन्होने कहा कि इसके लिए उप समिति का गठन किया जा रहा है। यह समिति समस्त स्कूलो में सात दिनो के अन्दर जाकर निरीक्षण करेगी। फीस व्यवस्था सही पाये जाने पर सम्बन्धित स्कूल को एनओसी देगी। इसके उपरान्त ही अभिभावको से नये सत्र की फीस सम्बन्धित स्कूल प्राप्त कर सकेंगे। उन्होने कहा कि फीस या अन्य कोई परिवर्तन करने से पूर्व समिति की सहमति प्राप्त करना आवश्यक होगा तथा इसकी सूचना नोटिस बोर्ड पर 60 दिन पूर्व ही चस्पा करनी होगी। सप्लीमंेट्री के लिए कोई स्कूल अपने बच्चों को अनिवार्य नही करेगा।  जिलाधिकारी ने बताया कि शासनादेश के अनुसार सही न पाये जाने पर सम्बन्धित स्कूलो के विरूद्ध प्रथम कार्यवाही में जुर्माना 1 लाख रूपये वसूल किया जायेगा तथा दूसरी बार सम्बन्धित स्कूल को जुर्माने के रूप में रू0 5 लाख वसूले जायेंगे। इसके उपरान्त यदि कोई स्कूल तीसरी बार भी शासनादेश की अवहेलना करता है तो मान्यता प्रत्र्यापण की कार्यवाही करते हुए स्कूल को सीज किया जायेगा।  बैठक में ज्वाईट मजिस्टेªट एकता सिंह, नगर मजिस्टेªट गजेन्द्र कुमार, जिला विद्यालय निरीक्षक वी0के0 दुबे, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी हेमन्त राव तथा जनपद के सेन्ट जेम्स, सेन्ट जेवियर्स, गुरूराम राव, न्यू हाईट, महार्षि विद्या, जयपुरिया, कैम्ब्रिज, जय विद्या, सनबीम, नालन्दा, एलपीएस, अर्चिसा, जेएनवी, लायंस पब्लिक स्कूल संडीला तथा सेन्ट जेवियर्स पिहानी के प्रधानाचार्यो ने प्रतिभाग किया।