रिपोट-फैजान शेख

जसप्रीत बुमराह के लाजावाब गेंदबाजी की मदद से मुंबई इंडियंस ने डिविलियर्स के शानदार अर्धशतक पर पानी फेरते हुए आईपीएल के 12वें सीजन के सातवें मैच में गुरुवार को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर को रोमांचक मुकाबले में छह रन से करारी शिक्स्त दिया और प्रतियोगीता में पहली जीत दर्ज किया. तीन बार की चैम्पियन मुंबई की दो मैचों में यह पहली जीत है जबकि विराट कोहली की टीम बेंगलोर को लगातार दूसरी हार झेलना पड़ा है.मुंबई ने यहां एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में पहले बल्लेबाजी करते हुए आठ विकेट पर 187 रन का अच्छा-खासा स्कोर किया और फिर बेंगलोर को निर्धारित 20 ओवर में पांच विकेट पर 181 रन पर ही रोक दिया.

188 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी कोहली कि टीम ने मात्र 3.2 ओवर में 27 के स्कोर पर मोइन अली (13) का विकेट खो दिया. इसके बाद पार्थिव पटेल (31) भी 6.5 ओवर में टीम के 67 के स्कोर पर आउट हो गए. पार्थिव ने 22 गेंदों पर चार चौके और एक छक्का लगाया.पार्थिव के आउट होने के बाद अगली ही मारकंडे की गेंद पर स्लिप में खड़े युवराज सिंह ने डिविलियर्स का कैच छोड़ दिया. डिविलियर्स ने इस जीवनदान का पुरा लाभ उठाते हुए कप्तान विराट कोहली (46) के साथ दूसरे विकेट के लिए 49 रन जोड़े. उन्होंने 32 गेंदों पर छह चौके लगाए.

कोहली के आउट होने के बाद डिविलियर्स ने खतरनाक बल्लेबाजी करते हुए एक छोर संभाले रखा और आईपीएल में अपना 29वां अर्धशतक पूरा किया. बेंगलोर को अंतिम 18 गेंदों पर जीत के लिए 40 रन बनाने थे लेकिन बुमराह ने मैच के 19वें ओवर में मात्र पांच रन ही दिए और एक विकेट भी लिया और मौच का रुख पलट कर रख दिया.मलिंगा की आखिरी गेंद नो-बॉल दिख रही थी लेकिन अंपायर ने इसपर ध्यान नहीं दिया और मुंबई को पहली जीत मिल गई. कप्तान कोहली नो-बॉल न देने से काफी नाराज भी दिखाई दिए.

विराट कोहली इतने नाराज दिखे कि अंमपायर को जमकर खरी-खोटी सुनाने लगे और इसके बाद मुम्बई के कप्तान रोहित शर्मा ने भी नो-बॉल भब पर बोलते हुए कहा की यह क्रिकेट के लिए अच्छा नहीं है ऐसी गलती इतने बड़े पैमाने पर नहीं होनी चाहिए.बहरहाल मुम्बई ने रोमांचक मैच जीत कर इस सीजन अपना पहला मैच जीता.